आपके पर्स में रुपए पैसे के अतिरिक्त कोई अनिष्टकारी वस्तु तो नहीं

आपके पर्स में रुपए पैसे के अतिरिक्त कोई अनिष्टकारी वस्तु तो नहीं

आपकी जेब में पर्स एक चलती-फिरती तिजोरी है। इसलिये जेब के पर्स को कभी भी साधारण वस्तु समझने की भूल न करें। जिस प्रकार एक व्यवसायी अपने घर या दुकान पर रखी तिजोरी की पूजा-पाठ कर करता हैं। उसे लक्ष्मी का …

Read more

आपकी जेब का रुमाल आपका भाग्य बदल सकता है

आपकी जेब का रुमाल आपका भाग्य बदल सकता है

क्या आप अपनी जेब में रुमाल रखते हैं? यदि हाँ, तो जो कुछ बातें आपको बतायी जाने वाली हैं वह आपके काम की हैं। सबसे पहली बात उन लोगों के लिए जो रुमाल नहीं रखते। क्योंकि जो लोग अपने पास रुमाल …

Read more

जब कानपुर के इंजीनियर अपनी मौत के बाद वापस लौट कर आये

जब कानपुर के इंजीनियर अपनी मौत के बाद वापस लौट कर आये

मनुष्य की मृत्यु के पश्चात उसकी आत्मा कहाँ जाती है और किस प्रकार उसे अगले जीवन के लिए नया शरीर मिलता है? यह सभी प्रश्न रहस्य के दायरों में कैद हैं, लेकिन जब देश-विदेश में कुछ ऐसी अदभुत घटनायें घटीं, …

Read more

अपने बॉस को खुश रखने के लिए गुड़ खाकर ऑफिस जायें

अपने बॉस को खुश रखने के लिए गुड़ खाकर ऑफिस जायें

आप सरकारी नौकरी में कार्यरत हों या प्राइवेट क्षेत्र में, हर स्थिति में यदि आपका बॉस आप से प्रसन्न है तो सब कुछ अच्छा है। लेकिन इसके विपरीत यदि बॉस की आप पर टेढ़ी दृष्टि हो जाये तो परिणाम स्वरूप …

Read more

वह भारत का वीर चार सौ किलो की तलवार उठाकर लड़ता था

lorik manjari story

इतिहास साक्षी है कि भारत में एक से बढ़कर एक ताकतवर वीरों ने जन्म लिया है। आज हम उस एक वीर की बात करने जा रहे हैं जिसकी शक्तिशाली भुजाओं की कोई मिसाल नहीं थी। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि …

Read more

लॉकडाउन का भगवान

लॉकडाउन का भगवान

बरेली के सुभाष नगर में एक परिवार किराये पर रहता था। परिवार में पति-पत्नी और दो बच्चे थे। परिवार का मुखिया गोवर्धन एक रिक्शा चालक था। वह ऑटो रिक्शा चलाकर अपना और अपने परिवार का पालन पोषण करता था। लेकिन …

Read more

माँ का स्पर्श

माँ का स्पर्श

विनीता के परिवार में अब तीन ही लोग थे। विनीता, उसके पिता और उसका एक छोटा भाई शलभ। माँ की पिछले वर्ष स्वाइन फ्लू के कारण मौत हो गई थी। तभी से विनीता बहुत दुखी रहने लगी थी। विनीता इस …

Read more

मंदिर जहां पुरुषों का कमीज पहनकर आना मना है

मंदिर जहां पुरुषों का कमीज पहनकर आना मना है

मंदिरों में जाते समय क्या पहना जाये और क्या नहीं, यह ज्यादातर निश्चित नहीं होता है। लोग-बाग अलग-अलग देवी-देवताओं को प्रसन्न करने के लिये तरह-तरह के रंगों के वस्त्र धारण करते हैं। इसी तरह जहाँ तक पुजारियों के वस्त्रों का …

Read more

बिना सूंड़ वाले गणेश जी का मंदिर

बिना सूंड़ वाले गणेश जी का मंदिर

हम जब भी भगवान गणेश जी की मूर्ति की कल्पना करते हैं, तो हम उन्हें उनकी सूंड़ के साथ देखते हैं। आज देश भर में जितने भी गणपति महाराज के मंदिर हैं। उनमें से अधिकतर प्रतिमाओं में भगवान गणेश अपनी …

Read more

बगल सीट वाली लड़की

बगल सीट वाली लड़की

मैं लखनऊ रेलवे स्टेशन से ट्रेन पर चढ़ा था। मेरे बगल वाली सीट पर एक साँवले रंग की तीखे नैन-नक्श वाली लड़की थी, जो वाराणसी से आ रही थी। यह संयोग ही था कि मेरी बर्थ उसके नजदीक वाली ही …

Read more