टेढ़ी पुलिया वाली चुड़ैल

टेढ़ी पुलिया वाली चुड़ैल

गुलशन इस बाराबंकी शहर में नया-नया आया था। वह पहले फतेहपुर जिले में नियुक्त था। पिछले ही महीने उसका स्थानांतरण बाराबंकी में हुआ था। उसे इस शहर में अपने बैंक की नयी ब्रांच में ज्वाइन किए हुये एक महीना हो …

Read more

जोनल पार्क के भूत-भूतनी की कहानी

जोनल पार्क के भूत-भूतनी की कहानी

जोनल पार्क में प्रवेश टिकटों में धांधली का समाचार सुनते-सुनते अधिकारियों के कान पक गये थे। यह वही पार्क था जिस जगह भूत और भूतनी के अक्सर नज़र आने के किस्से सुनाई पड़ा करते थे। यहाँ पिछ्ले दिनों जोनल पार्क …

Read more

माँ का स्पर्श

माँ का स्पर्श

विनीता के परिवार में अब तीन ही लोग थे। विनीता, उसके पिता और उसका एक छोटा भाई शलभ। माँ की पिछले वर्ष स्वाइन फ्लू के कारण मौत हो गई थी। तभी से विनीता बहुत दुखी रहने लगी थी। विनीता इस …

Read more

बगल सीट वाली लड़की

बगल सीट वाली लड़की

मैं लखनऊ रेलवे स्टेशन से ट्रेन पर चढ़ा था। मेरे बगल वाली सीट पर एक साँवले रंग की तीखे नैन-नक्श वाली लड़की थी, जो वाराणसी से आ रही थी। यह संयोग ही था कि मेरी बर्थ उसके नजदीक वाली ही …

Read more

रहस्यमय साड़ी जो पहनने वाले को गायब कर देती

रहस्यमय साड़ी

उस दिन सोनम के हसबैंड अपनी दुकान पर चले गये थे और बच्चे स्कूल। वह घर में अकेली थी। सोनम अपने घर के कामों में व्यस्त थी। वह कोई गीत गुनगुनाती हुई घर की साफ-सफाई कर रही थी कि तभी …

Read more

चुनारगढ़ वाला भूत

chunargarh ka bhoot

मैं प्रसिद्ध चुनारगढ़ किले में उस दिन अपने मित्रों के साथ था। हर गर्मी की छुट्टी में, मैं और मेरे मित्र किसी न किसी डरावने या रहस्यमय स्थान पर घूमने का कार्यक्रम बनाते थे। इस बार हमने मिर्जापुर जिले के …

Read more

चुड़ैल किरायेदार की कहानी

चुड़ैल किरायेदार की कहानी

रोहित श्रीवास्तव इस रॉयल कॉलोनी में नये-नये ही बसे था। उनके घर में अभी दो ही लोग थे। वह और उनकी वाइफ निशा। घर में अभी बाल-गोपालों का जन्म नहीं हुआ था। इसलिए रोहित और उनकी पत्नी अभी बच्चों की …

Read more

डॉक्टर साहब की आत्मा आज भी कोरोना का इलाज कर रही है

डॉक्टर साहब की आत्मा आज भी कोरोना का इलाज कर रही है

अपने कार्य के प्रति समर्पित डॉक्टर की कहानी तो आपने बहुत सुनी होगी। लेकिन किसी डॉक्टर की आत्मा के द्वारा मरीज की जान बचाने की कहानी सुनने में बिल्कुल अविश्वसनीय सी लगती है। लेकिन उस छोटे से अस्पताल में जिन …

Read more

दादा जी की आत्मा

दादा जी की आत्मा

गिरधर गोपाल श्रीवास्तव के परिवार में छह लोगों की संख्या थी। गिरधर ओर उनकी पत्नी, दो बच्चे और गिरधर के माता-पिता। गिरधर की छोटी सी प्राइवेट नौकरी थी। गिरधर क़े पिता रेलवे विभाग से रिटायर हुये थे। गिरधर की छोटी …

Read more

खौफ़नाक रात की कहानी

khaufnak raat ki kahani

मैं और समीर बहुत अच्छे दोस्त हैं । काफी दिनों से समीर मुझे उसके गांव आने के लिए कह रहा था मुझे गांव में रहना अच्छा लगता था पर ऑफिस से छुट्टी मिलना मुश्किल होता है पर इस बार जब …

Read more