सूर्य मंत्र, जो वेदों में आये हैं, उनके जप एवं प्रभाव

सूर्य मंत्र

भगवान सूर्य की स्तुति में भक्त प्रातःकाल प्रार्थना करते हुए कहता है कि ‘हे भगवान सूर्य! मैं आपके उस श्रेष्ठ रूप का स्मरण करता हूँ , जिसका मण्डल ऋग्वेद है, तनु यर्जुर्वेद है, किरणें सामवेद हैं तथा जो ब्रह्मा और …

Read moreसूर्य मंत्र, जो वेदों में आये हैं, उनके जप एवं प्रभाव

नवरात्रि में करें, युद्ध में शत्रु पर विजय के लिए मंत्र साधना

नवरात्रि में करें, युद्ध में शत्रु पर विजय के लिए मंत्र साधना

महाभारत के समय कुरुक्षेत्र में जब भगवान श्री कृष्ण ने, भीषण हथियारों के साथ, महाभयंकर कौरव सेना को युद्ध के लिए उपस्थित देखा तो उन्होंने कुछ सोचकर, अर्जुन से उनके हित के लिए कहा- हे अर्जुन तुम रणक्षेत्र में इन …

Read moreनवरात्रि में करें, युद्ध में शत्रु पर विजय के लिए मंत्र साधना

मन्त्र विद्या के रहस्य

मन्त्र-विद्या-के-रहस्य

मन्त्र विद्या के रहस्य मन्त्र विद्या के रहस्य इस दुनिया के ऐसे अजूबे हैं कि जिनके समझ में आ गए, उनके लिए किसी दिव्य अनुदान से कम नहीं हैं | सुप्रसिद्ध वैज्ञानिक डॉ॰ एहरन, हमेशा अपनी कमर में एक तुलसी …

Read moreमन्त्र विद्या के रहस्य

आगम, यामल और तन्त्र शास्त्र के प्रमुख ग्रन्थ

Trident_Yantra_of_Parama_Siva

तंत्रशास्त्र के प्रधान रूप से तीन भेद हैं-आगम, यामल और तंत्र | वाराही तंत्र के मतानुसार सृष्टि, प्रलय, देवताओं की पूजा, सब का साधन और मन्त्रों के पुरश्चरण तथा पट्कर्म साधन और चार प्रकार के ध्यानयोग, जिसमें यह सात प्रकार …

Read moreआगम, यामल और तन्त्र शास्त्र के प्रमुख ग्रन्थ

मन्त्रयोग, हठयोग, राजयोग, लययोग एवं कुण्डलिनी साधना के विभिन्न अंगों का वर्णन

मन्त्रयोग, राजयोग, लययोग, हठयोग

योग भारतवर्ष की अमूल्य निधि है | दर्शन शास्त्र के ग्रन्थ, भारतीय मनीषियों की योगविद्या के चमत्कार से ही भरे पड़े हैं | योग साधना एवं आध्यात्मिक ज्ञान के लिए, ये विश्व सदियों से ऋणी रहा है भारतवर्ष का | …

Read moreमन्त्रयोग, हठयोग, राजयोग, लययोग एवं कुण्डलिनी साधना के विभिन्न अंगों का वर्णन

तंत्र साहित्य में ब्रह्म के सच्चिदानन्द स्वरुप की व्याख्या

Panchmukhi-Paramshiv-Rahasyamaya

तंत्र विद्या केवल मारण, मोहन, विद्वेषण, उच्चाटन और वशीकरण तक सीमित नहीं है बल्कि इस प्रकार के अभिचार कर्म तंत्र का निकृष्टतम रूप हैं | ये तंत्र का विकृत रूप हैं जो भौतिकता से प्रेरित अपरा तंत्र के अंतर्गत आते …

Read moreतंत्र साहित्य में ब्रह्म के सच्चिदानन्द स्वरुप की व्याख्या

मन्त्र-शक्ति के दिव्य चमत्कार

mantra shakti ke chamatkar

मन्त्र शक्ति के चमत्कार आज के समय में कम ही देखने को मिलते हैं लेकिन आज मन्त्र शक्ति के सामर्थ्य का आकलन करना किसी के लिए भी संभव नहीं | कुछ दिव्य शक्ति मन्त्र ऐसे हैं जिनके आगे आज के …

Read moreमन्त्र-शक्ति के दिव्य चमत्कार

मन्त्र शक्ति का प्रचंड प्रभाव

222

मन्त्र शक्ति का प्रचंड प्रभाव होता है | सामान्य तौर पर ऐसी अवधारणा सभी की है | लेकिन कभी-कभी कुछ दिव्य मंत्र ऐसे चमत्कार दिखाते हैं कि उसे देख कर भी विश्वास करना मुश्किल होता है | मन्त्र शक्ति के …

Read moreमन्त्र शक्ति का प्रचंड प्रभाव