द्रोणाचार्य ने अर्जुन को कौन से अमोघ शक्ति दी, उसका क्या नाम था और क्या-क्या क्षमतायें थी

द्रोणाचार्य ने अर्जुन को कौन से अमोघ शक्ति दी

महाभारत काल में जब द्रोणाचार्यन अर्जुन, भीम, युधिष्ठिर आदि पांडवों तथा दुर्योधन आदि कौरवों को अस्त्र और शस्त्र शिक्षा दे …

Read moreद्रोणाचार्य ने अर्जुन को कौन से अमोघ शक्ति दी, उसका क्या नाम था और क्या-क्या क्षमतायें थी

रंगमण्डप में अर्जुन ने विचित्र और मायावी हथियारों का प्रदर्शन किया, उसे कर्ण से महान चुनौती मिली और वंश को लेकर अन्य लोगों से अपमानित हुए कर्ण को दुर्योधन को अंगदेश का शासक बनाया

रंगमण्डप में अर्जुन ने विचित्र और मायावी हथियारों का प्रदर्शन किया

परीक्षित नंदन जन्मेजय को महाभारत कथा सुनाते हुए वैशम्पायन जी कहते हैं “जनमेजय ! द्रोणाचार्य ने राजकुमारों को अस्त्रविद्या में …

Read moreरंगमण्डप में अर्जुन ने विचित्र और मायावी हथियारों का प्रदर्शन किया, उसे कर्ण से महान चुनौती मिली और वंश को लेकर अन्य लोगों से अपमानित हुए कर्ण को दुर्योधन को अंगदेश का शासक बनाया

पाण्डवों के प्रति धृतराष्ट्र के मन में जहर किसने भरा, किसने उनकी बुद्धि भ्रष्ट की, क्या वो शकुनी नहीं कोई और था

पाण्डवों के प्रति धृतराष्ट्र के मन में जहर किसने भरा, किसने उनकी बुद्धि भ्रष्ट की

परीक्षित के पुत्र जन्मेजय को महाभारत की कथा सुनते हुए वैशम्पायन जी कहते हैं “जनमेजय ! द्रुपद को जीत लेने …

Read moreपाण्डवों के प्रति धृतराष्ट्र के मन में जहर किसने भरा, किसने उनकी बुद्धि भ्रष्ट की, क्या वो शकुनी नहीं कोई और था

क्या श्रीकृष्ण के कहने पर अर्जुन ने युधिष्ठिर का घोर अपमान किया था और अपना गुणगान किया था तथा बाद में श्रीकृष्ण और अर्जुन दोनों ने युधिष्ठिर से क्षमा मांगी थी

क्या श्रीकृष्ण के कहने पर अर्जुन ने युधिष्ठिर का घोर अपमान किया था

महाभारत युद्ध के दौरान जब अर्जुन द्वारा कर्ण का वध न किये जाने पर, युधिष्ठिर ने अर्जुन को धिक्कारा और …

Read moreक्या श्रीकृष्ण के कहने पर अर्जुन ने युधिष्ठिर का घोर अपमान किया था और अपना गुणगान किया था तथा बाद में श्रीकृष्ण और अर्जुन दोनों ने युधिष्ठिर से क्षमा मांगी थी

मद्र्राज शल्य को अपना सारथी बनाने के लिए अंगराज कर्ण और दुर्योधन ने अथक परिश्रम किया

मद्र्राज शल्य को अपना सारथी बनाने के लिए अंगराज कर्ण और दुर्योधन

राजा शल्य को समझाते हुए दुर्योधन ने कहा “वीरवर ! सारथि तो रथी से भी बढ़कर होना चाहिये । इसलिये …

Read moreमद्र्राज शल्य को अपना सारथी बनाने के लिए अंगराज कर्ण और दुर्योधन ने अथक परिश्रम किया

महाभारत युद्ध के समाप्त होने पर अश्वत्थामा द्वारा पाण्डवों का कपट पूर्वक वध करने का विचार करना

महाभारत युद्ध के समाप्त होने पर अश्वत्थामा द्वारा पाण्डवों का कपट पूर्वक वध करने का विचार करना

महाभारत युद्ध समाप्त हो चुका था और भीमसेन ने दुर्योधन का बेरहमी से वध कर डाला था | तब अश्वत्थामा, …

Read moreमहाभारत युद्ध के समाप्त होने पर अश्वत्थामा द्वारा पाण्डवों का कपट पूर्वक वध करने का विचार करना

क्या महाभारत में अर्जुन ने अपने ही बड़े भाई युधिष्ठिर का वध करने के लिए तलवार उठा ली थी और फिर श्री कृष्ण ने युधिष्ठिर की जान बचायी थी

क्या महाभारत में अर्जुन ने अपने ही बड़े भाई युधिष्ठिर का वध करने के लिए तलवार उठा ली थी

महाभारत युद्ध में जब कर्ण से पराजित, अपमानित और अत्यंत घायल हो कर युधिष्ठिर अपनी छावनी में लौट आये तो …

Read moreक्या महाभारत में अर्जुन ने अपने ही बड़े भाई युधिष्ठिर का वध करने के लिए तलवार उठा ली थी और फिर श्री कृष्ण ने युधिष्ठिर की जान बचायी थी

क्या कर्ण ने महाभारत युद्ध में रहस्यमय भार्गवास्त्र का प्रयोग किया था जिससे करोड़ो, अरबों बाण निकल रहे थे और उसने पाण्डव सेना में तबाही मचा दी थी तथा यह सब देख कर कृष्ण और अर्जुन को भी वहाँ से हट जाना पड़ा था

क्या कर्ण ने महाभारत युद्ध में रहस्यमय भार्गवास्त्र का प्रयोग किया था

महाभारत युद्ध में अर्जुन के महान पराक्रम को देख कर उसी समय अश्वत्थामा रथियों की बहुत बड़ी सेना साथ लेकर, …

Read moreक्या कर्ण ने महाभारत युद्ध में रहस्यमय भार्गवास्त्र का प्रयोग किया था जिससे करोड़ो, अरबों बाण निकल रहे थे और उसने पाण्डव सेना में तबाही मचा दी थी तथा यह सब देख कर कृष्ण और अर्जुन को भी वहाँ से हट जाना पड़ा था

महाभारत में दोनों पक्ष, कौरव और पाण्डव की सेनाओं का भयंकर युद्ध हुआ तथा भीम ने अतुलनीय पराक्रम दिखाया

कौरव और पाण्डव की सेनाओं का भयंकर युद्ध

महाभारत युद्ध के बीच में धृतराष्ट्र ने संजय से पूछा “संजय ! पाण्डवों और पांचालों की मार खाने से जब …

Read moreमहाभारत में दोनों पक्ष, कौरव और पाण्डव की सेनाओं का भयंकर युद्ध हुआ तथा भीम ने अतुलनीय पराक्रम दिखाया

महाभारत युद्ध में, भगवान् श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन से कौरवों के आक्रमण तथा भीम के पराक्रम का वर्णन करना

श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन से भीम के पराक्रम का वर्णन

एक बार महाभारत युद्ध में चलते समय राह में श्रीकृष्ण ने अर्जुन से युधिष्ठिर को दिखाते हुए कहा “पाण्डुनन्दन ! …

Read moreमहाभारत युद्ध में, भगवान् श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन से कौरवों के आक्रमण तथा भीम के पराक्रम का वर्णन करना