भगवान शिव के ‘कृष्णदर्शन’ अवतार की कथा

भगवान शिव के ‘कृष्णदर्शन’ अवतार की कथा

एक समय की बात है | महाराज नभग श्राद्ध देव मनु के पुत्र और परम वैष्णव राजर्षि अम्बरीष के पितामह थे। ये बड़े विद्वान और जितेन्द्रिय थे। इन्हीें महाराज नभग को सनातन ब्रह्म तत्त्व का ज्ञान देने के लिये भगवान …

Read more

भगवान शिव के अर्धनारीश्वर-अवतार की कथा

भगवान शिव के अर्धनारीश्वर-अवतार की कथा

परब्रह्म परमेश्वर का शिव-पार्वती के रूप में अर्धनारीश्वर अवतार जो समस्त भुवनों के प्राणियों को उत्पन्न करने वाले हैं, जिनका विग्रह जन्म और मृत्यु से रहित है तथा जो श्रेष्ठ नर और सुंदर नारी (अर्धनारीश्वर) रूप में एक ही शरीर …

Read more

अवधूत श्रेष्ठ भगवान श्री दत्तात्रेय जी की कथा

भगवान श्री दत्तात्रेय जी

ब्रह्मपुराण आदि के अनुसार भगवान दत्तात्रेय का अवतार ब्रह्म पुराण में भगवान दत्तात्रेय के अवतार का प्रयोजन इस प्रकार से वर्णित है ‘सर्वभूतों के अंतरात्मा, विश्वव्यापी भगवान विष्णु, विश्व कल्याण हेतुु पुुनः अवतीर्ण हुुए और दत्तात्रेय नाम से विख्यात हुुए।’ …

Read more

जब भगवान ने ब्रह्म सभा में सनकादि मुनियों के संदेह निवारण के लिए परमहंस का रूप धारण किया

परमहंस

‘जो पुरूष निरन्तर विषय-चिंतन किया करता है, उसका चित्त विषयों में फंस जाता है और जो मेरा स्मरण करता है, उसका चित्त मुझमें तल्लीन हो जाता है।’-भगवान श्री कृष्ण। एक बार की बात है। लोक पितामह चतुर्मुख ब्रह्मा जी अपनी …

Read more

भगवान के कल्कि अवतार की कथा

भगवान के कल्कि अवतार की कथा

भगवान विष्णु का कल्कि अवतार सर्व व्यापक भगवान विष्णु सर्व शक्तिमान हैं। वे सर्व स्वरूप होने पर भी चराचर जगत के सच्चे शिक्षक-सदगुरू हैं। वे साधु-सज्जन पुरूषों के धर्म की रक्षा के लिये, उनके कर्म का बंधन काट कर उन्हें …

Read more

भगवान बलराम कौन थे? क्या वो हर द्वापर युग में अवतार लेते हैं?

भगवान बलराम कौन थे

भगवान् बलराम क्या हर द्वापर यग में अवतार लेते हैं? भगवान श्री कृष्ण का अवतार तो पिछले द्वापर में, इस मन्वन्तर के सत्ताईस कलियुगों के पश्चात हुआ था। वैसे द्वापर युग में पृथ्वी का भार हरण करने तो भगवान बलराम …

Read more

महर्षि दुर्वासा कौन थे? वे किसके अवतार थे

महर्षि दुर्वासा

महर्षि दुर्वासा कौन थे महर्षि दुर्वासा कौन थे, वास्तव में वो ब्रह्मर्षि, महा तपस्वी तथा धर्मात्मा भगवान शंकर के ही अवतार रूप हैं। पौराणिक आख्यानों, तथा लौकिक जगत में महर्षि दुर्वासा को उनके महा क्रोधी स्वभाव के लिए ही अधिक …

Read more

भैरव कौन थे? वे किसके अवतार थे? काल भैरव का दिन कौन सा है? वाराणसी के आठ भैरव कौन कौन से हैं?

bhagwaan kaal bhairav

भगवान काल भैरव देवराज इन्द्र जिनके पावन चरण कमलों की भक्तिपूर्वक निरंतर सेवा करते हैं, जो व्यालरूपी विकाराल यज्ञ सूत्र धारण करने वाले हैं, जिनके ललाट पर चंद्रमा शोभायमान है, जो दिगम्बर स्वरूपधारी हैं, कृपा की मूर्ति हैं, नारद आदि …

Read more

नन्दी कौन थे, नन्दीश्वर अवतार की कथा

नन्दी कौन थे, नन्दीश्वर अवतार की कथा

महादेव, भगवान् शिव की वंदना ‘जोे परमानन्दमय हैं, जिनकी लीलाएं अनन्त हैं, जोे ईश्वरों केे भाी ईश्वर, सर्वव्यापक, महान, गौरी के प्रियतम तथा कार्तिकेय और विघ्नराज गणेश के जो पिता हैं, उन आदि देव शंकर की मैं वंदना करता हूं।’ …

Read more

महर्षि दधीचि कौन थे? उन्होंने किसके लिए अपनी अस्थियाँ दान की? दधीचि के पुत्र पिप्पलाद की कथा

bhagwan shiv ka pipplad awtar

कौन थे महर्षि दधीच इस संसार में जब भी कभी महान त्याग, तपस्या, दान, परोपकार एवं लोक कल्याण के लिये आत्म दान की बात आयेगी, वहां महर्षि दधीचि का नाम बड़े ही आदर से लिया जायेगा। महर्षि दधीचि भृगु वंश …

Read more