क्या महाभारत युद्ध में युधिष्ठिर ने दुर्योधन को पराजित करने के बाद भी उसके प्राण नहीं लिए

क्या महाभारत युद्ध में युधिष्ठिर ने दुर्योधन को पराजित करने के बाद भी उसके प्राण नहीं लिए

भारत वर्ष के राजा धृतराष्ट्र ने पूछा-संजय ! तुमने कहा कि युधिष्ठिर ने महारथी दुर्योधन को रथहीन कर दिया था, …

Read moreक्या महाभारत युद्ध में युधिष्ठिर ने दुर्योधन को पराजित करने के बाद भी उसके प्राण नहीं लिए

उलूक-युयुत्सु, श्रुतकर्मा-शतानीक, शकुनि-सुतसोम और शिखण्डी-कृतवर्मा में महाभारत का भयानक युद्ध हुआ, अर्जुनके द्वारा अनेकों वीरों का संहार तथा दोनों ओर की सेनाओं में घमासान युद्ध

अर्जुनके द्वारा अनेकों वीरों का संहार

महाभारत युद्ध अपने अंतिम दौर में पहुँच चुका था और धृतराष्ट्र की उत्सुकता अपने चरम पर थी | युद्ध का …

Read moreउलूक-युयुत्सु, श्रुतकर्मा-शतानीक, शकुनि-सुतसोम और शिखण्डी-कृतवर्मा में महाभारत का भयानक युद्ध हुआ, अर्जुनके द्वारा अनेकों वीरों का संहार तथा दोनों ओर की सेनाओं में घमासान युद्ध

क्या अश्वत्थामा ने महाभारत युद्ध में श्रीकृष्ण और अर्जुन को पराजित किया था

Ashwatthama

महाभारत युद्ध के बीच में दण्ड धार धृतराष्ट्र ने संजय से पूछा “संजय ! अर्जुन का संशप्तकों तथा अश्वत्थामा के …

Read moreक्या अश्वत्थामा ने महाभारत युद्ध में श्रीकृष्ण और अर्जुन को पराजित किया था

महाभारत में, अश्वत्थामा और भीमसेन के बीच हुए युद्ध में कौन विजयी हुआ

महाधनुर्धारी कर्ण के महाभारत युद्ध में सेनापति बनने के बाद, महाभारत युद्ध का आँखों देखा हाल बताते हुए, धृतराष्ट्र से …

Read moreमहाभारत में, अश्वत्थामा और भीमसेन के बीच हुए युद्ध में कौन विजयी हुआ

महाभारत युद्ध का एक रहस्यमयी महा योद्धा जो वीरता में अर्जुन के सामान था, तथा जिसने कौरव सेना में खलबली मचा दी थी और दुर्योधन तथा उसके मित्रों को आतंकित कर दिया था

महाभारत युद्ध का एक रहस्यमयी महा योद्धा

महाभारत युद्ध का सजीव विवरण बताते हुए संजय धृतराष्ट्र से कहते हैं-महाराज ! अर्जुन ने मंगल ग्रह की भाँति वक्र …

Read moreमहाभारत युद्ध का एक रहस्यमयी महा योद्धा जो वीरता में अर्जुन के सामान था, तथा जिसने कौरव सेना में खलबली मचा दी थी और दुर्योधन तथा उसके मित्रों को आतंकित कर दिया था

पांडवों और कौरवों के गुरु द्रोणाचार्य की मृत्यु के बाद महाभारत युद्ध में क्या हुआ, क्या कर्ण ने मकर व्यूह की रचना की थी, उसकी मकर व्यूह रचना में कौन-कौन से योद्धा थे और कहाँ खड़े थे

bhimsen aur kshemdhoorti ka yuddh

गुरु द्रोणाचार्य के मारे जाने से दुर्योधन आदि राजा बहुत घबरा गये, शोक से उनका उत्साह नष्ट हो गया था …

Read moreपांडवों और कौरवों के गुरु द्रोणाचार्य की मृत्यु के बाद महाभारत युद्ध में क्या हुआ, क्या कर्ण ने मकर व्यूह की रचना की थी, उसकी मकर व्यूह रचना में कौन-कौन से योद्धा थे और कहाँ खड़े थे

महाभारत युद्ध में म्लेच्छों के राजा का वध किसने किया था, क्या दुशासन को सहदेव ने पराजित किया था और नकुल को कर्ण द्वारा अत्यंत लज्जाजनक हार का सामना करना पड़ा था

महाभारत युद्ध में म्लेच्छों के राजा का वध किसने किया था

संजय कहते हैं-महाराज ! आपके पुत्र की आज्ञा से बड़े-बड़े हाथी सवार हाथियों के साथ ही क्रोध में भरकर धृष्टद्युम्न …

Read moreमहाभारत युद्ध में म्लेच्छों के राजा का वध किसने किया था, क्या दुशासन को सहदेव ने पराजित किया था और नकुल को कर्ण द्वारा अत्यंत लज्जाजनक हार का सामना करना पड़ा था

अभिमन्यु के पौत्र और परीक्षित के पुत्र राजा जन्मेजय को सर्प यज्ञ करने के लिए किसने उकसाया था

सर्प-सत्र

जब ऋषि उग्रश्रवा वहां बैठे ऋषियों को महभारत की कथा सुना रहे थे उसी समय उन्होंने उस घटना का वर्णन …

Read moreअभिमन्यु के पौत्र और परीक्षित के पुत्र राजा जन्मेजय को सर्प यज्ञ करने के लिए किसने उकसाया था

क्या महभारत की कथाओं में अनसुलझी पहेलियाँ हैं जिन्हे सुलझाना सामान्य मनुष्य के वश की बात नहीं

महभारत की अनसुलझी पहेलियाँ

महर्षि लोमहर्षण के पुत्र उग्रश्रवा सूतवंश के एक श्रेष्ठ पौराणिक कथा वाचक थे। एक बार जब नैमिषारण्य क्षेत्र में कुलपति …

Read moreक्या महभारत की कथाओं में अनसुलझी पहेलियाँ हैं जिन्हे सुलझाना सामान्य मनुष्य के वश की बात नहीं