मन्त्रयोग, हठयोग, राजयोग, लययोग एवं कुण्डलिनी साधना के विभिन्न अंगों का वर्णन

मन्त्रयोग, राजयोग, लययोग, हठयोग

योग भारतवर्ष की अमूल्य निधि है | दर्शन शास्त्र के ग्रन्थ, भारतीय मनीषियों की योगविद्या के चमत्कार से ही भरे पड़े हैं | योग साधना एवं आध्यात्मिक ज्ञान के लिए, ये विश्व सदियों से ऋणी रहा है भारतवर्ष का | …

Read more

तंत्र साहित्य में ब्रह्म के सच्चिदानन्द स्वरुप की व्याख्या

Panchmukhi-Paramshiv-Rahasyamaya

तंत्र विद्या केवल मारण, मोहन, विद्वेषण, उच्चाटन और वशीकरण तक सीमित नहीं है बल्कि इस प्रकार के अभिचार कर्म तंत्र का निकृष्टतम रूप हैं | ये तंत्र का विकृत रूप हैं जो भौतिकता से प्रेरित अपरा तंत्र के अंतर्गत आते …

Read more

मन्त्र-शक्ति के दिव्य चमत्कार

mantra shakti ke chamatkar

मन्त्र शक्ति के चमत्कार आज के समय में कम ही देखने को मिलते हैं लेकिन आज मन्त्र शक्ति के सामर्थ्य का आकलन करना किसी के लिए भी संभव नहीं | कुछ दिव्य शक्ति मन्त्र ऐसे हैं जिनके आगे आज के …

Read more

मन्त्र शक्ति का प्रचंड प्रभाव

222

मन्त्र शक्ति का प्रचंड प्रभाव होता है | सामान्य तौर पर ऐसी अवधारणा सभी की है | लेकिन कभी-कभी कुछ दिव्य मंत्र ऐसे चमत्कार दिखाते हैं कि उसे देख कर भी विश्वास करना मुश्किल होता है | मन्त्र शक्ति के …

Read more