मार्क ट्वेन के भयावह सपने का रहस्य


Mark_Twainसपने भी बड़े अजीब होते हैं | खूबसूरत सपने तो सच होते नहीं लेकिन भयावह सपने हमेशा सशंकित किये रहते हैं कि कहीं यह सपना सच ना हो जाए (भले ही वो पूरी ज़िन्दगी में कभी सच ना हों) |

लेकिन सपने तो सपने होते हैं उनका भविष्य से कोई लेना देना नहीं होता | कभी-कभी सपने में अनहोनी, होनी बन कर आती है, वो भी चुपके से और अपने घटित होने का इतना स्पष्ट अहसास कराती है मानो आप उसे ही जी रहे हों |

हम उन्हें सिर्फ सपने की संज्ञा नहीं दे सकते | भवितव्यता मार्ग ढूंढती है..अपने आप को आपसे रूबरू कराने के लिए | आप लाख जतन कर लें, लेकिन उसे होने से टाल नहीं सकते | कुछ ऐसा ही हुआ था प्रसिद्ध अमेरिकी लेखक मार्क ट्वेन के साथ |

साल था सन 1858 का और मई की गर्मियां चल रही थी | उन्ही दिनों सैमुअल क्लीमेंस, जिन्होंने बाद में अपना उपनाम मार्क ट्वेन रख लिया था, ने एक सपना देखा | सपना इतना स्पष्ट था की उन्हें लगा कि मानो यह किसी सच्ची घटना का पूर्वाभास हो |

उन्होंने सपने में अपने 21 वर्षीय भाई हेनरी को दो कुर्सियों पर रखें एक लोहे के संदूक में मरा हुआ देखा | हेनरी ने अपने भाई का सूट पहन रखा था और उसकी छाती पर रखे सफेद गुलाब के फूलों के गुलदस्ते के बीच एक लाल रंग का गुलाब भी लगा हुआ था |

अगली सुबह मार्क बहुत बेचैन थे | उन्होंने सपने वाली बात अपने भाई से बताई लेकिन उनके भाई ने इसे हलके में लिए और उस सपने को बहुत महत्व नहीं दिया | बात आयी गयी हो गयी |

इस सपने के दो सप्ताह बाद हेनरी एक जबरदस्त दुर्घटना का शिकार हो गया | वह एक भाप से चलने वाले पानी के जहाज पेन्सिल्वेनिया पर सवार था | मेंफिस के पास इस जलयान के बॉयलर फट जाने से हेनरी के दोनों फेफड़े गर्म पानी की भाप से जल गए | हादसा भयानक था |

इस दुर्घटना की खबर मिलते ही सैमुअल यानी मार्क तुरंत अपने भाई हेनरी के पास यथासंभव समय से पहुंच गए | मार्क जब हेनरी के पास पहुंचे तो वो स्वस्थ हो रहा था और उसने मार्क से बातें भी की | हफ्ते भर हेनरी का हॉस्पिटल में ईलाज चला |

यद्यपि एक सप्ताह बाद हेनरी खतरे की स्थिति से तो निकल गया लेकिन उसके तुरंत बाद अगले दिन ही एक अनाड़ी नौजवान डॉक्टर की लापरवाही से मोर्फीन (Morphine) की अधिक मात्रा में इंजेक्शन लगाने से उसकी मृत्यु हो गई |

हेनरी की मृत्यु एक दिन बाद, भारी मन से, जब मार्क अपने भाई की लाश को देखने गए तो उन्हें बिलकुल भी अंदाज़ा नहीं था कि वहाँ उनको क्या देखने को मिलेगा | जब वह देवदार की लकड़ी से बने ताबूतों से भरे कमरे में दाखिल हुए तो उस कमरे में मृतात्मा का शरीर, धातु निर्मित ताबूत में रखा हुआ था |

यह लाश उनके प्यारे भाई हेनरी की थी जिसने अपने भाई सैमुअल क्लीमेंस (मार्क ट्वेन) का सूट पहन रखा था | यह दृश्य देखकर सैमुअल भौचक्के रह गए और उन्हें तुरंत कुछ दिन पहले देखे अपने भयावह सपने की याद आई |

उसी समय एक अधेड़ उम्र की औरत उस कमरे में आई और उसने एक सफ़ेद गुलाब से बना गुलदस्ता मृत हेनरी की छाती पर रख दिया | सैमुअल ने थोड़ा पास जाकर गौर से देखा, दो गुलदस्ते के बीच में एक लाल गुलाब भी लगा हुआ था |

रहस्यमय के अन्य आर्टिकल्स पढ़ने के लिए कृपया नीचे क्लिक करें

राजस्थान के शहर जोधपुर के भीषण धमाके का रहस्य

पौराणिक ग्रंथों में ब्रह्माण्ड की विभिन सृष्टियों की उत्पत्ति का मनोरम वर्णन

मृत्यु के पश्चात, आदि शंकराचार्य द्वारा वर्णित जीवात्मा का मोक्ष मार्ग

तंत्र साहित्य में ब्रह्म के सच्चिदानन्द स्वरुप की व्याख्या

कुण्डलिनी शक्ति तंत्र, षट्चक्र, और नाड़ी चक्र के रहस्य

एलियंस की पहेली