ज़मीन के सैकड़ों फुट नीचे बसे एक गाँव का अनोखा किस्सा

ज़मीन के सैकड़ों फुट नीचे बसे एक गाँव का अनोखा किस्साक्या आप जमीन के नीचे मनुष्यों के रहने की कल्पना कर सकते हैं ? शायद नहीं, लेकिन यह सच है कि इस धरती पर एक ऐसा अदभुत गाँव है जो जमीन की सतह से लगभग सवा तीन सौ फुट नीचे बसा हुआ है। आश्चर्य की बात यह है कि इस गाँव के लोग जमीन के सैकड़ों फुट नीचे भी सामान्य जीवन जी रहें हैं।

ऐसा कहा जाता है कि उन गाँव वालों पर कोई दैवीय कृपा का प्रभाव है। जिसके कारण इस धरती की तलहटी में भी हजार वर्ष सेअधिक समय बीत जाने पर भी इस गाँव के लोग ऐसे दुर्गम स्थान में भी जिंदा रह रहें हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस गाँव के लोग इतने साहसी हैं कि उन्होंने अपनी हिम्मत के बल पर धरती की सतह से सवा तीन सौ फुट नीचे भी दुनिया आबाद कर दिया है।

इस विशालकाय कुएं में बसे गाँव में पोस्ट ऑफिस, गिरजाघर और छोटा- मोटा बाजार भी है। धरातल की गहराई में बसे इस गाँव में पहुँचने पर ऐसा लगता है कि आप पृथ्वी को छोड़कर अन्य किसी ग्रह में पहुँच गये हों।

आइये जानते हैं कि धरती की सतह से सैकड़ों फुट नीचे बसा यह गाँव कहाँ हैं? वहाँ रहने वाले लोग कौन हैं? कितने लोग रहते हैं इस गाँव में ? वहाँ के लोग क्या खाते-पीते हैं? गहराई से ऊपर जमीन की सतह पर आने के लिए वह कौन सा साधन अपनातें हैं?

जमीन के नीचे रहने वाले गाँव के लोग अपनी रोजी-रोटी के लिए क्या काम करते हैं? जमीन के इतने नीचे सांस लेने के लिए क्या ऑक्सीजन और पीने का पानी उपलब्ध है? जमीन के नीचे बसा यह गाँव कितने क्षेत्रफल में बसा हुआ है? आपके सभी सवालों का जवाब आपको इस लेख के आगे के हिस्से में मिलेगा।

जमीन के नीचे बसा यह गाँव कहाँ हैं?

जमीन की सतह से सैकड़ों फ़ीट नीचे बसा यह अदभुत गाँव अमेरिका के ग्रैंड कैनियन में स्थित गहरी खाई के निकट बसा हुआ है। यह गाँव ‘सुपाई’ के नाम से जाना जाता है। जहाँ लोग धरती से सैकड़ों फुट नीचे गहराई में रहतें हैं। इस गाँव में लगभग दो ढाई सौ लोग रहतें हैं।

किसने बसाया यह गाँव?

इस क्षेत्र में रहने वाली हजार वर्ष पुरानी जनजाति ने इस सुपाई गाँव को बसाया है। इस गाँव में अमेरिका के मूल निवासी रेड इंडियन रहतें हैं। अमेरिका की यह जनजाति अपने आरंभिक काल से ही बड़ी साहसी किस्म की है। जिन्होंने इस जंगल में भी मंगल को तलाश कर लिया है। यहाँ के लोग बातचीत करने के लिए जिस भाषा का प्रयोग करते हैं उसे हवासुपाई कहते हैं।

जमीन के नीचे बसे गाँव में लोग कैसे पहुँचते हैं?

जमीन से सवा तीन सौ फुट गहराई में बसे इस गाँव में पहुँचने का रास्ता मुश्किलों से भरा हुआ है। इस गाँव में पहुँचने के लिए तीन तरीके हैं। पहला तरीका है पैदल, जिसमें लंबा रास्ता तय करना पड़ता है। दूसरा तरीका है खच्चर के द्वारा।

खच्चर पशु के माध्यम से इस सुपाई गाँव तक पहुँचा जा सकता है। खच्चर की सहायता से ही शहर से जरूरत का समान इस गाँव तक पहुँचाया जाता है। इसके अलावा इस गाँव में हेलीकाप्टर के माध्यम से भी पहुँचा जा सकता है।

जमीन के नीचे स्कूल और बाजार भी है

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि जमीन के नीचे बसे इस गाँव में बच्चों को पढ़ने के लिए स्कूल, पोस्ट ऑफिस, गिरजाघर और दैनिक उपयोग के वस्तुओं की दुकानें भी हैं। ऐसा लगता है कि जमीन के नीचे लगने वाला यह छोटा-मोटा बाजार दुनिया में अकेला ही होगा। इस गाँव के निवासियों ने अपने जरूरत की सारी वस्तुओं को बड़े मेहनत- मशक्कत से जमीन के नीचे ही एकत्र कर लिया है।

गाँव के लोगों की रोजी-रोटी कैसे चलती है?

धरती की गहराई में रहने वाले सुपाई गाँव के निवासी अपनी रोजी-रोटी के लिए खेती-बाड़ी करते हैं और साथ ही एक खास तरह की टोकरी बुनते हैं। इस गाँव की बुनी टोकरी पूरे अमेरिका में प्रसिद्ध है।

यह टोकरियाँ विभिन्न वनस्पतियों की टहनियों से तैयार की जाती हैं, जो देखने में बहुत खूबसूरत और मजबूत होती हैं। सुपाई गाँव की टोकरियाँ अमेरिका के खास मॉल आदि में बिकती हुईं नजर आती हैं। यहाँ उगने वाली मकई गाँव वालों का मुख्य भोजन है।

ज़मीन के सैकड़ों फुट नीचे बसे एक गाँव का अनोखा किस्सा jharnaकोई दैवीय शक्ति विचरण करती है यहाँ

कितनी बार यह सवाल उठता है कि इस विषम इलाके को यहाँ के ग्रामवासी छोड़ क्यों नहीं देते। क्योंकि शहर से जुड़ने के लिए इस गाँव के निवासियों को काफी मेहनत-मशक्कत करनी पड़ती है। इसके अतिरिक्त यहाँ की प्रतिकूल जलवायु में भी मनुष्य का जीवन आसान नहीं हैं।

लेकिन इस पर भी सुपाइ गाँव के लोग इस गाँव को छोड़ कर कहीं और नहीं बसना चाहते, क्योंकि सुपाई गाँव के लोगों को लगता है कि यहाँ इस जगह पर उनके पूर्वजों का साया विद्यमान है। वे अपने पूर्वजों की छत्र छाया में अपने आपको सुरक्षित मानते हैं।

लोगों का ऐसा मानना है कि यहाँ के नीले हरे-रंग के पानी के झरने के निकट कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद हैं जो जमीन के सतह से तीन सौ फुट नीचे रहने वालों की रक्षा करती है।

क्योंकि इस गाँव का झरना बिना सूखे सदैव ग्रामवासियों की प्यास बुझाता है। साथ ही इस झरने का पानी उनके लिए अमृत के समान है जो उन्हें निरोगी भी बनाये रखता है। ग्रामवासी झरने का जल पूर्वजों का दिया हुआ आशीर्वाद (प्रसाद) मानते हैं।

सूपाई गाँव है पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र

जमीन के तीन सौ फ़ीट अंदर बसा यह सुपाई गाँव, देश विदेश के पर्यटकों के लिए अद्भुत आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। लोग कौतूहल वश इस गाँव को अवश्य देखने आते हैं।

जो कोई भी अमेरिका के ग्रैंड कैनियन के क्षेत्र में आते हैं वह इस अदभुत सुपाई गाँव को देखने अवश्य जाते हैं। इस गाँव का प्राकृतिक सौंदर्य देखते ही बनता है। सुपाई गाँव अपनी अद्भुत विचित्रता के कारण पूरे विश्व में प्रसिद्ध है।

इस गाँव के फिरोजी रंग के पानी के झरने की सुंदरता जो कोई भी देखता है वह उसी में खो जाता है। लगता है कि इस अदभुत झरने में ही वह चमत्कारिक तिलस्म है जो यहाँ आने वाले हर व्यक्ति को अपनी ओर सम्मोहित कर लेता है।