आपकी जेब का रुमाल आपका भाग्य बदल सकता है

आपकी जेब का रुमाल आपका भाग्य बदल सकता हैक्या आप अपनी जेब में रुमाल रखते हैं? यदि हाँ, तो जो कुछ बातें आपको बतायी जाने वाली हैं वह आपके काम की हैं। सबसे पहली बात उन लोगों के लिए जो रुमाल नहीं रखते। क्योंकि जो लोग अपने पास रुमाल नहीं रखते उन्हें अपने जीवन में सकारात्मकता लाने के लिये रुमाल अवश्य रखना चाहिए। क्योंकि रुमाल का काम होता है आपके चेहरे या हाथों की गंदगी को दूर करना। यह गंदगी क्या है?

यह गंदगी है नेगेटिव एनर्जी, उसे पोछते ही आप पॉजिटिव एनर्जी की ओर अग्रसर होने लगते हैं। इसके विपरीत जो लोग रुमाल नहीं रखते वे अपने चेहरे और हाथों से दिन भर अपनी नकारात्मक ऊर्जा को नहीं हटा पाते और उसी ऊर्जा के साथ सारा दिन व्यतीत करते हैं। जिसके कारण जाने-अनजाने में अपना सौभाग्य खो देते हैं। इसीलिए कहा जाता है कि जेब में वास्तु के अनुसार रखा गया रूमाल आपके भाग्य के द्वार को खोलता है।

रोज धुला हुआ रूमाल ही अपनी जेब में रखें

रोज धुला हुआ रूमाल ही अपनी जेब में रखना चाहिए। क्योंकि हम पूरे दिन रुमाल से अपनी नेगेटिव ऊर्जा को पोछ डालते हैं। यदि दूसरे दिन भी हम उसी गंदे रुमाल से अपने चेहरे और हाथों को पोछेंगे तो उस नकारात्मक ऊर्जा को फिर से अपने हाथों या चेहरे पर लगा देंगे। जो हमारे जीवन में लायेगी निराशा, हताशा और असफलता। इसीलिए हमें मैला रुमाल जेब में रखने से बचना चाहिए। स्वच्छ रूमाल शुभता का प्रतीक है।

कुछ लोग को देखा गया है कि वह अपने रुमाल को किसी भी तरह मोड़-माड़ कर जेब में रख लेते हैं। वास्तु शास्त्र इसे गलत मानता है। वास्तु विशेषज्ञ कहते हैं कि रुमाल को हमेशा फोल्ड करके रखना चाहिए। जब हम फोल्ड किया हुआ रुमाल जेब से निकालते हैं तो उसी के साथ खुलते हैं हमारे भाग्य के नए रास्ते। वास्तु पंडित चार बार फोल्ड किया हुआ रुमाल सबसे अच्छा मानते हैं। ऐसा कहा जाता है कि चार बार फोल्ड किया हुआ रूमाल मां लक्ष्मी को आमंत्रित करता है। वह हमें धनी बनाता है।

अब प्रश्न यह उठता है कि किस रंग का रुमाल आपके लिए सबसे अधिक भाग्यशाली है? इसके लिए ज्योतिष विज्ञान कहता है कि जो रंग आपकी राशि और जन्मतिथि के अनुसार लकी हो उसी रंग का रुमाल आपको अपने साथ रखना चाहिए। वास्तु पंडितों का यही कहना है कि रुमाल बहुत गहरे रंग का नहीं रखना चाहिए। यह हमारे मन को विचलित करता है और हमें लक्ष्य से दूर रखता है। जबकि हल्का रंग हमें आनंद प्रदान करता है।

जब हम रुमाल के रंगों की बात करते हैं तो सफेद रुमाल दैवीय कृपा पाने के लिए सर्वोत्तम है। कहा भी जाता है कि जब जीवन में सफेद रंग अच्छा लगने लगे तो यह समझना चाहिए कि आप पर दैवीय कृपा हो चुकी है। जबकि काले रंग का रुमाल जेब में रखना अपने दुर्भाग्य को आमंत्रित करना है। ज्योतिष में लाल रंग के रूमाल को भी अच्छा माना गया है।

एक दूसरे को रुमाल का आदान-प्रदान करना स्वच्छता की दृष्टि से बुरा तो है ही, लेकिन वास्तु की दृष्टि से भी इसे अच्छा नहीं माना जाता है। वास्तु शास्त्री मानते हैं कि रुमाल के आदान-प्रदान से आप अपना अच्छा भाग्य दूसरों को दे देते हैं और दूसरों का बुरा भाग्य प्राप्त कर लेते हैं। उपहार में भी रुमाल का लेन-देन अच्छा नहीं माना जाता हैं। जबकि शादियों में लोग एक दूसरे को रूमाल खूब उपहार में देते हैं। लेकिन रूमाल को उपहार में देने से रिश्ते अच्छे होने के स्थान पर खराब हो सकते हैं।

रूमाल हमेशा सूती कपड़े का रखना चाहिए। कभी भी बहुत डिजाइन वाले रूमाल नहीं रखने चाहिए। क्योंकि ऐसे रूमाल मन में भटकाव पैदा करते हैं। रूमाल कभी छेदों से भरा नहीं होना चाहिए। क्योंकि यह छेद आपके सौभाग्य में छेद कर सकता हैं अर्थात उसे नष्ट कर सकता हैं। बड़े-बड़े चैक की डिजाइन वाले रूमाल भी अच्छे नहीं माने जाते। रूमाल सोबर और सिंपल होना चाहिए। भड़कीले रूमाल आपको मंजिल तक पहुँचने से रोकते हैं।

कभी भी रूमाल के साथ कोई चाबी या दूसरा कोई सामान बाँध कर जेब में मत रखें। रूमाल में रुपया-पैसा बाँध कर जेब में रखने के बजाय उसे पर्स में रखें। हाथ-मुँह पोछे जाने वाले रूमाल में धन रख कर आप लक्ष्मी का अपमान करते हैं। यदि लक्ष्मी जी रूठ गई तो वापस बड़ी मुश्किल से आयेगी।

यदि आप अपने भाग्य का रास्ता खोलना चाहते हैं तो रुमाल से जुड़ी हुई दो, तीन बातों का ध्यान अवश्य रखें। बाहर जाते समय साफ-सुथरा रुमाल अपने साथ नित्य रखें। रोज रूमाल बदल डालें। क्यों कि रोज रूमाल बदलने से आप अपने भाग्य को बदल डालते हैं। इससे सुख और समृद्घि पाने के अवसर मिलते हैं।

अंत में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि आप रुमाल में हल्की से सुगंध डालें तो सोने पर सुहागा वाली बात हो जायेगी, क्योंकि यह भीनी-भीनी सुगंध आपको सारे दिन सकारात्मक ऊर्जा से सराबोर रखेगी। आप जब भी नया रूमाल खरीदें तो दुकानदार से अच्छे मूड में खरीदें। कभी भी थोड़े बहुत पैसे कम कराने के चक्कर में उससे झिक-झिक न करें। ऐसी कोशिश करें कि रूमाल खरीदते समय दुकानदार का चेहरा मुस्कराता रहें। ऐसा रूमाल आपके लिये भाग्य शाली रहेगा।