असली भूत की कहानी

असली भूत की कहानी

यह अमेरिका के राष्ट्रपति भवन (व्हाइट हाउस) का 10 अगस्त वर्ष 1923 का किस्सा है। उन दिनों केल्विन कूलिज (Calvin Coolidge) नाम के व्यक्ति अमेरिका के 30वें राष्ट्रपति हुआ करते थे। वह उन दिनों अपनी वाइफ के साथ व्हाइट हाउस में ही रहा करते थे। उस रात उनकी पत्नी ग्रेस कूलिज (Grace Coolidge) रात्रि के लगभग 11 बजे पानी पीने उठीं। उस समय उन्हें लगा कि उनके कमरे के बाहर कोई व्यक्ति खड़ा है़, जो सूट-बूट में है और उसके चेहरे पर दाढ़ी है।

प्रेसिडेंट केल्विन कूलिज की वाइफ ग्रेस कूलिज ने सोचा कि यह शायद उनकी आँखो का भ्रम होगा। लेकिन जब उन्हें यह मानव आकृति उसी महीने कई बार नजर आई तो वह भयभीत हों गईं। अब वह यह बात सोंचने के लिए मजबूर हो गई कि कहीं इस व्हाइट हाउस पर किसी भूत-प्रेत की छाया तो नहीं।

ग्रेस कुलिस ने अपने हस्बैंड प्रेसिडेंट केल्विन कूलिज से इस बारे में चर्चा की। उन्होंने बताया कि उन्हें अक्सर इस राष्ट्रपति भवन में कोई दाढ़ी वाला भूत नजर आता है़। अपनी वाइफ ग्रेस की बातें सुनकर पहले तो केल्विन कूलिज ठहाका लगाकर हंसने लगे। फिर उन्होंने अपनी पत्नी से थोड़ा हास्य-विनोद किया। उन्होंने अपनी वाइफ ग्रेस से कहा कि प्रिय ग्रेस, वह दाढ़ी वाला भूत तुम्हें ही क्यों नजर आता है़, मुझे क्यों नहीं। शायद वह तुम्हारे रंग-रूप का दीवाना हो गया है।

यह बात तो प्रेसिडेंट केल्विन कूलिज ने अपनी पत्नी से मजाकवश कह दी थी। क्योंकि उस भूत को देखने के बाद से वह डरी हुई थीं। लेकिन बाद में वह अपनी पत्नी के द्वारा बताये गये उस दाढ़ी वाले भूत के बारे में गंभीरता से विचार करने लगे। क्योंकि उन्हें पता था कि उनकी पत्नी कभी उनसे झूठ नहीं बोल सकतीं।

रहस्यमय साड़ी जो पहनने वाले को गायब कर देती

इसलिए राष्ट्रपति केल्विन कूलिज ने भी सोचा कि हो सकता है शायद इस व्हाइट हाउस पर किसी भूत-प्रेत का सचमुच साया हो। अपनी पत्नी ग्रेस के मुँह से उस भूत की कहानी आये दिन सुनते-सुनते राष्ट्रपति केल्विन कूलिज का दिमाग एक दिन भूत की दाढ़ी पर अटक गया। क्योंकि उनकी पत्नी ग्रेस अक्सर कहा करतीं थीं कि उन्हें जो भूत व्हाइट हाउस में नजर आता है उसकी दाढ़ी भी है।

एक दिन प्रेसिडेंट केल्विन कूलिज ने अपनी पत्नी ग्रेस को अपने व्हाइट हाउस में ही स्थित ऑफिस में बुलाया। तब उनकी वाइफ ग्रेस को बड़ा आश्चर्य हुआ कि आखिर क्या बात है़ उनके हसबैंड केल्विन ने उन्हें अपने राष्ट्रपति कार्यालय में क्यों बुलाया है ?

अब्राहम लिंकन भूतजब केल्विन की पत्नी व्हाइट हाउस स्थित राष्ट्रपति कार्यालय में पहुंची तो उनके हसबैंड राष्ट्रपति केल्विन उन्हें उस जगह ले गये जहाँ उनसे पहले बने अमेरिका के राष्ट्राध्यक्षों की तस्वीरें दीवार पर लगीं हुई थीं। फिर उन्होंने अपनी वाइफ ग्रेस से दीवार पर लगी एक तस्वीर की ओर इशारा करते हुए पूछा कि तुम्हारा दाढ़ी वाला भूत कुछ-कुछ ऐसा ही नजर आता है क्या ?

जब राष्ट्रपति केल्विन कुलिन की पत्नी ने दीवार पर लगी उस तस्वीर को देखा, जिस पर हाथ रखकर प्रेसिडेंट केल्विन इशारा कर रहे थे तो वह अचानक चौंक उठी। उन्होंने अपने हस्बैंड केल्विन से लगभग चीखते हुये कहा हाँ.. हाँ..  यही है वह दाढी वाला भूत, जो हमें अक्सर इस व्हाइट हाउस में नजर आता है़।

जिसे देखकर प्रेसिडेंट केल्विन की वाइफ चौंकी थीं। वह दरअसल अमेरिका के 16 वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन की तस्वीर थी जो 4th March 1861 से 15th April 1865 तकअमेरिका के राष्ट्रपति पद पर रहे जिनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। यह दुःखद घटना 14 अप्रैल 1865 की थी। उस दिन राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन वाशिंगटन के फोर्ड थिएटर में एक नाटक देख रहे थे।

अब्राहम लिंकन दरअसल वह राष्ट्रपति थे जो दास प्रथा और नस्ल भेद के पक्के विरोधी थे। एक रंगमंच कर्मी, जिसका नाम जॉन वाइक्स बूथ था; वह अब्राहम लिंकन की इस विचारधारा को बिल्कुल पसंद नहीं करता था। बल्कि वह ऐसे अवसर की ताक में था जिस दिन प्रेसिडेंट अब्राहम लिंकन के सुरक्षाकर्मी उनके साथ न हों ताकि वह उनकी हत्या कर सके।

ऐसा कहा जाता है कि उस दिन फोर्ड थिएटर में उनका सुरक्षा गार्ड जॉन, प्रेसिडेंट अब्राहम लिंकन को उनकी सीट पर बैठा कर कहीं चला गया था।

डॉक्टर साहब की आत्मा आज भी कोरोना का इलाज कर रही है

अब जॉन बाइक्स बूथ को अवसर मिल गया था। वह चुपके-चुपके अब्राहम लिंकन के पीछे आ गया और उसने अपनी बंदूक से राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के सर पर गोलियां दाग दी। अब्राहम लिंकन को तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन अगले दिन सुबह उनकी मौत हो गई। कहते हैं कि मरने के बाद भी अब्राहम लिंकन की प्रेत आत्मा अमेरिका के राष्ट्रपति भवन व्हाइट हाउस में ही विचरण करती रहती है।

आज भी अब्राहम लिंकन की आत्मा की आहट व्हाइट हाउस में महसूस की जाती है। उनकी आत्मा शायद अमेरिकी प्रेसीडेंटों को देश की जनता के लाभ के लिए कार्य करने के लिए प्रेरित करती है। अब्राहिम लिंकन की हत्या के बाद उनकी आत्मा की आहट पाने वाली राष्ट्रपति केल्विन की पत्नी ग्रेस अकेली महिला नहीं थीं। उनके अलावा अब्राहिम लिंकन की आत्मा को नीदरलैंड की महारानी व्हिलमिना ने भी महसूस किया था।

दरअसल वह उन दिनों अमेरिका की यात्रा के लिए आयीं थीं। सम्मान के रूप में उन्हें अमेरिका के व्हाइट हाउस में ही ठहराया गया था। उस रात नीदरलैंड की महारानी व्हिलमिना अपने कमरे में सो रही थी कि उन्हें लगा कि अचानक किसी ने उनको पुकारा। महारानी व्हीलमिना की नींद टूट गयी।

वे अपना कमरा खोल कर बाहर बरामदे में आ गयीं। बरामदे में एक व्यक्ति खड़ा था। महारानी व्हिलमिना के द्वारा उसे बुलाने पर वह हवा में गायब हो गया। बताया जाता है कि उस व्यक्ति के भी दाढ़ी थी। इसी तरह एक बार एक व्यक्ति व्हाइट हाउस के पास से गुजर रहा था कि उसने देखा कि एक व्यक्ति व्हाइट हाउस के लॉन में एक पेड़ के नीचे बैठा है। उसका चेहरा उदास था। वह बड़ा दुखी नजर आ रहा था।

उसकी दाढ़ी बढ़ी हुई थी। व्हाइट हाउस के पास  से गुजरने वाले उस व्यक्ति को बड़ा आश्चर्य हुआ, न तो वह व्यक्ति कोई सुरक्षाकर्मी था और न ही कोई वीआईपी, फिर वह व्हाइट हाउस के प्रांगण में कैसे घुस आया? क्योंकि उस भवन के चारों ओर इतनी सिक्योरिटी रहती है कि कोई परिंदा भी पर नहीं मार सकता।

ऐसे में  किसी व्यक्ति का व्हाइट हाउस में पहुंच पाना असंभव था। एक बात आश्चर्य की यह थी कि उस उदास बैठे व्यक्ति का चेहरा अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति अब्राहिम लिंकन से बिल्कुल मिलता- जुलता था। उस व्यक्ति की डर के मारे चीख निकल पड़ी क्योंकि वह आज तक वह जिस अब्राहम लिंकन के भूत की कहानी केवल सुना करता था उस अब्राहम लिंकन के भूत को आज वह अपनी आंखों से देख रहा था।