अपने पैंट की जेब में कंघी रखना अच्छा है या बुरा 

अपने पॉकेट की जेब में कंघी रखना अच्छा है या बुरा आपके अपने जीवन में उपयोग की जाने वाली हर छोटी या बड़ी वस्तु का अपना महत्व होता है़। इसलिए आप किसी भी वस्तु का प्रयोग करते समय वास्तु के प्रति सजग रहें क्योंकि यही सजगता आपके जीवन में उन्नति ला सकती है़। इसके विपरीत आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली वस्तु के संबंध में वास्तु को अनदेखा करना महंगा पड़ सकता है़।

अक्सर लोग घर से बाहर निकलते समय अपनी जेब में छोटी सी कंघी रखते हैं ताकि वह बाहर अपने बिगड़े हुए बालों को फिर संवार सकें। आइए जानते हैं कि इस संबंध में वास्तु शास्त्र क्या कहता है? आपको अपनी पॉकेट की जेब में कंघी रखना चाहिए या नहीं? इस आर्टिकल में हम यह जानेंगे कि कहीं जेब में कंघी रखने से कोई दुष्परिणाम होने की संभावना तो नहीं?

वास्तु विशेषज्ञ यह कहते हैं कि घर से बाहर निकलते समय अपने साथ ऐसी वस्तुओं को नहीं रखना चाहिए जो हमें नकारात्मक ऊर्जा प्रदान करें। क्योंकि घर से बाहर आप किसी विशेष प्रयोजन से जा रहे होते हैं अथवा अपने कार्यस्थल पर अपनी ड्यूटी के लिए जा रहे होते हैं। ऐसे में सकारात्मक ऊर्जा सदा आपके साथ रहना चाहिए।

तभी वह कार्य सिद्ध होगा, जिसके लिए आप जा रहें हैं और आपको लाभ की प्राप्ति होगी। वास्तु शास्त्र यह कहता है कि घर से बाहर निकलते समय ऐसी वस्तुओं को साथ में बिल्कुल भी नहीं रखना चाहिए जो हमें उदासीनता प्रदान करें। उदाहरण लिए गंदा रुमाल, कटे-फटे कागज, पुरानी फोटो, पुराने बिल और तोड़-मरोड़ कर रखे हुए नोट; क्योंकि इनसे निकलने वाली नकारात्मक ऊर्जा हमारे काम में व्यवधान उत्पन्न करती है।

यदि आप अपने साथ अपनी पॉकेट की जेब में या किसी अन्य स्थान पर अपने बालों को संवारने के लिए कंघी लेकर जा रहे हैं तो उस कंघी के संबंध में कुछ बातें अवश्य जान लीजिए कि बाहर जाते समय अपने बालों को संभालने के लिए आपके द्वारा अपने साथ कंघी लेकर जाने को वास्तु शास्त्र बुरा नहीं मानता है़। लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना होगा पड़ेगा कि वह कंघी कहीं से टूटी हुई न हो। क्योंकि टूटी हुई कंघी वास्तु दोष उत्पन्न करती है।

साथ ही कंघी साफ-सुथरी होनी चाहिए। कंघी में कहीं भी धूल या मैल आदि नहीं चिपका हुआ होना चाहिए। क्योंकि गंदी कंघी आर्थिक हानि को बढ़ावा देती है। घर के बाहर जाते समय अपने साथ कंघी लेकर निकलना इसलिए अच्छा माना जाता है क्योंकि आप इससे आप अपने बिखरे हुए बालों को सवारेंगे। इससे न केवल आपके बाल ही संवरेंगे बल्कि आपकी जिंदगी भी संवर जाएगी।

वास्तु शास्त्र ऐसी वस्तुओं के लिए हमेशा अनुमति देता है जो बिगड़ी या बिखरी हुई चीजों को सुधारने का काम करता है। या यह कहा जाना चाहिए कि साथ ले जाने वाली कंघी आपको अपने कार्य में सफलता प्रदान करती है। क्योंकि बाहर अपने बिखरे हुए बालों को संवारते समय आपमें आत्मविश्वास की वृद्धि होती है।

साथ ही आपके चारों ओर एक सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न हो जाती है। ऐसे में चाहे महिला हो या पुरुष दोनों के लिए बाहर अपने साथ लिए जाने वाला कंघा या कंघी वास्तु की दृष्टि से लाभदायक है़। क्योंकि कंघी के माध्यम से आप अपने बिखरे हुए बालों से उत्पन्न वास्तु दोष को समाप्त करने के लिए उसका उपयोग कर रहे हैं। इसलिए कंघी या कंघा अपने साथ ले जाना शुभता का प्रतीक है।

बाहर जाते समय कंघी लेकर जाते समय इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि कंघी कभी भी खुली हुई नहीं होनी चाहिए। क्योंकि खुली हुई कंघी असफलता को आमंत्रित करती है। इसलिए बाहर ले जाने वाली कंघी खरीदते समय आप इस बात का विशेष ध्यान रखिए कि वह कंघी किसी केस या कवर में रखी हो।

यदि आप बिना केस या कवर वाली खुली कंघी खरीदते हैं तो ऐसी दशा में किसी कागज या कपड़े के कवर में रखकर उसे अपनी जेब या पर्स में रखना चाहिए। क्योंकि साथ रखी हुई खुली कंघी विपत्तियों को आमंत्रित करती है़। अब आप जब भी अपने साथ घर से बाहर जाते समय यदि कंघी पास रखें तो कुछ बातों पर अवश्य ध्यान दें-

  1. कंघी में मैल नहीं होना चाहिए।
  2. कंघी कवर में होनी चाहिए।
  3. पास में रखने जाने वाली कंघी अगर काले रंग के बजाय किसी अन्य रंग की हो तो अति उत्तम रहेगा।
  4. पॉकेट में रखी जाने वाली कंघियो की संख्या केवल एक ही होना चाहिए कई नहीं।
  5. वास्तु पंडित कहते हैं कि अगर आपके साथ जाने वाली कंघी नई और रंग-बिरंगी हो तो जीवन में सुखद क्षणों की वृद्धि होती है।