जीव, प्रकृति और ब्रह्म के रहस्य

आरम्भ से ही मनुष्य जिज्ञासु प्रवृत्ति का रहा है | अज्ञात, अदृश्य, अनागत को जानने की उत्कट अभिलाषा, उनका विज्ञान समझने की प्रबल इच्छा आज मनुष्य को समय के उस दौर में ले कर आई है जहाँ से उसके लिए समय और स्थान दोनों सिकुड़ चुके है | लेकिन मनुष्य के लिए उसके मूल प्रश्न, … Continue reading जीव, प्रकृति और ब्रह्म के रहस्य